Monkey Pox in India: 75 देशों के बाद भारत में भी सामने आने लगे मंकीपॉक्स के मामले, 11 हजार लोग बने इस बीमारी का शिकार, जानिए पूरा मामला

Monkey Pox in India: 75 देशों के बाद भारत में भी सामने आने लगे मंकीपॉक्स के मामले, 11 हजार लोग बने इस बीमारी का शिकार, जानिए पूरा मामला

Monkey Pox in India: 75 देशों के बाद भारत में भी सामने आने लगे मंकीपॉक्स के मामले, 11 हजार लोग बने इस बीमारी का शिकार, जानिए पूरा मामला

Monkey Pox in India: पूरी दुनिया पिछले दो साल से कोरोना से परेशान रही है और अब यह जानलेवा वायरस फिर से अपना कहर बरपा रहा है। दुनिया भर में मंकीपॉक्स के 11,000 से अधिक मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इस समय 75 देशों में मंकीपॉक्स वायरस का अलर्ट जारी किया गया है और इसी दौरान यह वायरस भारत में भी पहुंच गया है।

Join us Telegram

कुछ दिन पहले यूएई से लौटा एक पुरुष केरल में मंकीपॉक्स से पीड़ित पाया गया था। भारत सरकार में मंकीपॉक्स को लेकर परेशानी बढ़ गई है। केरल में ही भारत में पहला मंकीपॉक्स का मामला सामने आया है, लेकिन चूंकि केवल एक ही मामला सामने आया है, इसलिए वायरस को नजरंदाज नहीं जा सकता है।

दो महीनो में 75 देश ने फैला यह वायरस

यह वायरस महज दो महीने में 75 देशों में फैल चुका है। दुनिया भर में लगभग 11 हजार लोग इस वायरस के चपेट में आ चुके हैं, जिनमें से 80 प्रतिशत मामले यूरोप से दर्ज किए गए हैं।

Monkey Pox in India: 75 देशों के बाद भारत में भी सामने आने लगे मंकीपॉक्स के मामले, 11 हजार लोग बने इस बीमारी का शिकार, जानिए पूरा मामला
Monkey Pox in India: 75 देशों के बाद भारत में भी सामने आने लगे मंकीपॉक्स के मामले, 11 हजार लोग बने इस बीमारी का शिकार, जानिए पूरा मामला

भारत ने कनाडा, मैक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, पुर्तगाल, स्पेन, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, स्वीडन, फिनलैंड, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, इज़राइल के बाद मंकीपॉक्स की सूचना दी है।

क्या है मंकी पॉक्स

मंकी पॉक्स चिकन पॉक्स, चेचक के वायरस के समान है। बता दें कि पॉक्स वायरस का सबसे भयानक रूप है। साल 1970 में यह वायरस पहली बार एक बंदर के शरीर में पाया गया था, जिसके बाद यह इंसानों में फैल गया।

मंकी पॉक्स कैसे फैलता है?

मंकी पॉक्स वायरस दुर्लभ है, लेकिन यह घातक है। टमाटर बुखार, कोरोना, राइनो फ्लू, बर्ड फ्लू आदि जैसे संक्रमण बुखार नहीं हैं। एक व्यक्ति जो मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आता है वह भी इस वायरस के चपेट में आ जाता है। साथ ही बंदरों, गिलहरियों, कुत्तों, बिल्लियों और अन्य जानवरों को भी यह वायरस हानि पहुंचा सकता है, लेकिन उनके लिए यह कोई नई बात नहीं है। मंकीपॉक्स किसी संक्रमित जानवर के संपर्क में आने से भी हो सकता है।

Daily New Update

7c3f61e2 5842 4f34 b5ec f11e6f88e4bf
x